Header Ads

बच्चों के लिए भी जरुरी है योग का नियमित अभ्यास

बच्चों के लिए भी जरुरी है योग का नियमित अभ्यास

योग बच्चों के शरीरिक विकासऔर मानसिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है और साथ ही योगासन से बच्चे तनावमुक्त होते हैं। योगासन करने से बच्चों में आत्मविश्वास भी बढ़ता है।



कम उम्र में ही बच्चों को योग की शिक्षा देने से आने वाले समय में उन्हें कई तरह के रोग और स्वास्थ्य़ समस्याओं से दूर रखा जा सकता है। वो बच्चे जो खेल कूद में रूचि नहीं रखते हैं, उनके लिए योग शारीरिक गतिविधियों की कमी को पूरा करेगा। योग के अभ्यास के साथ बढ़ने वाले बच्चे जब किशोरावस्था में प्रवेश करते हैं तो अपने जीवन में आने वाले बदलाव और तनाव को अच्छे से हैंडल कर पाते हैं और उन्हें अपने एकेडमिक जीवन में अच्छा प्रदर्शन करने में मदद मिलती है। आइए जानते हैं बच्चों को योग का अभ्यास क्यों करना चाहिए। [
बच्चों के लिए क्यों फायदेमंद है योग: 
शारीरिक विकास के लिए फायदेमंद होता है।
शरीर को स्वस्थ रखने का तरीका बताता है।
सूर्य नमस्कार, मेडिटेशन और योगासन से चंचल बच्चों का मन शांत होता है।
योगासन से बच्चे तनावमुक्त होते हैं और यह उन्हें डिप्रेशन से भी बचाता है।
बच्चों में आत्मविश्वास बढ़ाता है।
योग से बच्चों का इम्‍यून सिस्टम मजबूत होता है जो उन्हें कई बीमारियों से भी बचाता है।
बच्चों के संपूर्ण विकास के लिए योग करना बहुत आवश्यक होता है।

बच्चे घर पर योग कैसे करें:
अपने और अपने बच्चे के लिए पहले योगा मैट बिछाएं।
योग के दौरान अपने बच्चे के पसंद का गाना बजाएं, जिससे उन्हें आसन करने में आनंद आएगा।
बच्चे पहले से ही बहुत लचीले होते हैं इसलिए उनसे शुरुआत में कोई कठिन योगासन ना कराएं।
बच्चों को योग सिखाने वाली कोई वीडियो चलाएं।
अगर बच्चों में योग के प्रति रूचि खत्म होती दिखें तो योग सिखाने के तरीके में बदलाव लायें। 
बच्चों के लिए निम्नलिखित आसन बेहद जरुरी होते हैं: आप अपने बच्चे को नियमित रुप से निम्न आसनों का अभ्यास करा सकते हैं।
1. भुजंगासन:
इस आसन को करने से बच्चों के हाथ और कंधों में मजबूती आती है और साथ ही साथ शरीर के बाकी अंग भी स्वस्थ रहते हैं।
2. उत्तासन:
इस आसन को करने से बच्चों के दिमाग में खून का बहाव बढ़ जाता है और तनाव या चिंता जैसी परेशानी भी दूर हो जाती है। इस योग को करने से जांघों में ताकत आ जाती है।
3. बालासन:
बालासन उन बच्चों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है जो बच्चे बहुत चंचल और नटखट होते हैं। इस आसन को करने से उनका मन शांत और स्थिर रहता है।
4. बधकोनासन: इस आसन को करने से बच्चों के शरीर में लचीलापन आने लगता है और आंतें मजबूत हो जाती हैं।

5. ताड़ासन:
यह आसन बच्चों के लिए काफी प्रभावशाली होता है। इस आसन में बच्चों को ध्यान व शरीर में संतुलन करना सिखाया जाता है। जिससे उनके रीढ़ की हड्डी मजबूत होने के साथ उनकी लंबाई भी बढ़ती है। [

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.