Header Ads

क्रिएटिन के फायदे और नुकसान –

क्रिएटिन के फायदे और नुकसान –



Creatine Powder Benefits In Hindi मांसपेशियों को मजबूत बनाने और उच्च ऊर्जा प्रदान करने के लिए दुनिया का सबसे नंबर वन सप्लीमेंट है, क्रिएटिन। यह बॉडी बिल्डिंग के क्षेत्र में सर्वाधिक उपयोग में लाया जाता है। प्राकृतिक रूप से मांस क्रिएटिन का सबसे अच्छा आहार स्रोत है। क्रिएटिन को शरीर की मांसपेशियों में ऊर्जा का उत्पादन करने के लिए सिर्फ एक घंटे की आवश्यकता होती है। कसरत या व्यायाम करने के एक घंटे से पहले क्रिएटिन लेने की अनुशंसा की जा सकती है। आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि क्रिएटिन (creatine) सप्लीमेंट क्या है, क्रिएटिन खाने के फायदे और साइड इफेक्ट्स क्या होते हैं।

क्रिएटिन क्या है – What Is Creatine in Hindi

क्रिएटिन (creatine) एक रसायन है, जो आम तौर पर शरीर की मांसपेशियों और मस्तिष्क में पाया जाता है। क्रिएटिन सामान्यता लाल मांस और समुद्री भोजन रूपी आहार में पाया जाता है। प्रयोगशाला में भी इसका निर्माण किया जा सकता है।


creatine का उपयोग आमतौर पर अभ्यास प्रदर्शन में सुधार करने और एथलीटों या अधिक उम्र के वयस्कों में मांसपेशी द्रव्यमान को बढ़ाने के लिए किया जाता है।

क्रिएटिन एक प्राकृतिक पदार्थ है, जो शरीर के द्वारा क्रिएटिनिन फॉस्फेट (creatine phosphate) के रूप में ग्रहण किया जाता है। क्रिएटिन फॉस्फेट, एडीनोसिन ट्राइफॉस्फेट (adenosine triphosphate) (ATP) नामक पदार्थ बनाने में मदद करता है। ATP (एडेनोसाइन ट्राइफॉस्फेट) मांसपेशी संकुचन के लिए शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। यह मांस या मछली जैसे प्रोटीन समृद्ध खाद्य पदार्थों में अधिक पाया जाता है।


क्रिएटिन खाने के फायदे – creatine Khane Ke Fayde In Hindi

मांसपेशी कार्यों में क्रिएटिन सप्लीमेंट के फायदे – Creatine Supplement Benefits Functions In Muscles In Hindi

क्रिएटिन (creatine) मांसपेशियों के द्रव्यमान को बढ़ावा देने के लिए एक लोकप्रिय और प्रभावशाली माध्यम है।

नई मांसपेशी की वृद्धि के लिए यह प्रोटीन के गठन को बढ़ावा देता है, जिससे नए मांसपेशी तन्तु का निर्माण होता है। यह मांसपेशी द्रव्यमान को बढ़ावा देने वाले कारक GF-1 के स्तर को भी बढ़ा सकता है, और ATP/ PKB मार्ग को भी उत्तेजित कर सकता है।

क्रिएटिन (creatine) की खुराक मांसपेशियों के पानी की मात्रा में वृद्धि करती है, जिसे cell volumization के रूप में जाना जाता है। जिससे मांसपेशियों के आकार में तेजी से वृद्धि हो सकती है। कुछ शोधों से यह भी पता चला है कि यह सप्लीमेंट, मांसपेशियों के विकास को रोकने के लिए जिम्मेदार अणु मायोस्टैटिन (myostatin) के स्तर को कम करता है।

क्रिएटिन पाउडर के लाभ फेफड़ों की बीमारी में – Creatine Powder Use In Lung Disease In Hindi

क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसीस (COPD) वाले लोगों में क्रिएटिन (creatine) के प्रभाव काफी फायदेमंद हैं। अतः क्रिएटिन लेना फेफड़ों के कार्य या व्यायाम क्षमता में सुधार कर सकता है।

क्रिएटिन खाने के फायदे तीव्र व्यायाम प्रदर्शन में – Creatine Benefits Intense Exercise Performance In Hindi

Creatine , ATP को सीधे ऊर्जा उत्पाद में बदल देता है इस बजह से यह तीव्र अभ्यास प्रदर्शन में काफी सुधार कर सकता है। एक शोध के द्वारा पाया गया कि यह सामान्य से 15% तक अधिक तीव्र अभ्यास प्रदर्शन करने में मदद करता है।

क्रिएटिन (Creatine’s), कार्य में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए, शरीर के अनेक कारकों में सुधार कर सकता है, जिनमें शामिल हैं:
ताकत में वृधि
मांसपेशी द्रव्यमान
रिकवरी (Recovery)
मांसपेशी सहनशक्ति में वृधि (Muscle endurance)
मस्तिष्क प्रदर्शन बैलिस्टिक पावर (Ballistic power)
दौड़ने की क्षमता में वृधि (Sprint ability)
थकान में कमी करना (Resistance to fatigue)

मांसपेशी के विकास में क्रिएटिन का उपयोग – Creatine Use Speeds Up Muscle Growth In Hindi

क्रिएटिन, मांसपेशी द्रव्यमान बढ़ाने के लिए दुनिया का सबसे प्रभावी सप्लीमेंट है। इसे कम मात्रा में पांच से सात दिनों तक लेने से दुबले शरीर के वजन और मांसपेशियों के आकार में काफी वृद्धि होती है। वजन और आकार में यह प्रारंभिक वृद्धि मांसपेशी के भीतर पानी की मात्रा में वृद्धि होने के कारण होती है। लंबी अवधि के बाद यह महत्वपूर्ण मांसपेशी तंतुओं में वृद्धि करने और जिम के दौरान वजन बढ़ाने में भी सहायता करता है।


क्रिएटिन के फायदे पार्किंसंस रोग के लिए – Creatine Ke Fayde For Parkinson’s Disease In Hindi


पार्किंसंस रोग (Parkinson’s Disease), मस्तिष्क में पाए जाने वाले डोपामाइन (dopamine) नामक एक प्रमुख न्यूरोट्रांसमीटर के स्तर में कमी के कारण होता है।

डोपामाइन के स्तर में होने वाली अत्यधिक कमी, मस्तिष्क कोशिका की मौत और कई गंभीर लक्षणों का कारण बनती है। अतः क्रिएटिन (creatine) को पार्किंसंस रोग के केस में, डोपामाइन के स्तर को गिरने से रोकने के लिए अत्यधिक लाभकारी माना गया है।
न्यूरोलॉजिकल रोग में क्रिएटिन खाने के फायदे – Creatine Khane ke Fayde Neurological Diseases Me

कई तंत्रिका संबंधी बीमारियों का एक महत्वपूर्ण कारण मस्तिष्क में फ़ॉस्फोक्रिएटिन (phosphocreatine) के स्तर में कमी है। अतः तंत्रिका संबंधी बीमारियों के उपचार में क्रिएटिन(creatine), फ़ॉस्फोक्रिएटिन के स्तरों को बढ़ा सकता है, तथा यह रोग की बढ़ने की क्षमता को कम करने में भी मदद कर सकता है। फ़ॉस्फोक्रिएटिन के स्तरों में वृद्धि से दैनिक कार्य क्षमता बढ़ाने में मदद और कोशिका के नष्ट होने की अवधि को लगभग 25% कम करने में सहायता मिलती है।

क्रिएटिन (creatine) की खुराक लेने से अन्य बीमारियों का इलाज भी किया जा सकता है, जिनमें निम्न शामिल हैं:
अल्जाइमर रोग (Alzheimer’s disease) (भूलने का रोग) ।
इस्कीमिक स्ट्रोक (Ischemic stroke) (चेहरे का एक तरफ मुड़ जाना) ।
मिर्गी (Epilepsy) ।
मस्तिष्क या रीढ़ की हड्डी की चोटों ।
क्रिएटिन के लाभ मांसपेशियों में ऊर्जा उत्पादन – Creatine Ke Labh For Muscle Energy In Hindi

क्रिएटिन (creatine) की खुराक शरीर की मांसपेशियों में फ़ॉस्फोक्रिएटिन (phosphocreatine) के स्तर को बढ़ाती है।

फ़ॉस्फोक्रिएटिन नई ATP के निर्माण में मदद करता है, जिसका उपयोग ऊर्जा के रूप में, कोशिकाओं और जीवन के सभी महत्वपूर्ण कार्यों के लिए किया जाता है। अभ्यास करने के दौरान ATP टूटकर ऊर्जा उत्पादन करता है। क्रिएटिन, ATP के ऊर्जा में टूटने के बाद, इसके पुन: संश्लेषित होने की दर को नियंत्रित करता है, जिससे कि आप ऊर्जा को पुनः ATP बनने से पहले ही अधिक तेजी से उपयोग कर सकते हैं।

क्रिएटिन (creatine) की खुराक आपके फ़ॉस्फोक्रिएटिन के स्टोर्स को बढ़ाती है, जिससे कि आप तीव्र अभ्यास के दौरान अपनी मांसपेशियों को शक्ति प्रदान करने के लिए अधिक ATP ऊर्जा को उत्पन्न कर सकते हैं।

मधुमेह में क्रिएटिन की खुराक के लाभ – Creatine Powder Benefits Blood Sugar and Diabetes in Hindi
शोध से पता चलता है कि क्रिएटिन (creatine) की खुराक कम ब्लड शुगर के इलाज में मदद कर सकती है। यह एक परिवाहक अणु GLUT 4 की कार्य क्षमता को बढ़ा देता है। यह अणु मांसपेशियों में रक्त शर्करा को लाता है।

जो व्यक्ति क्रिएटिन और व्यायाम से अपना संबंध रखते है, वे केवल व्यायाम से संबंध रखने वाले व्यक्तियों की तुलना में रक्त शर्करा के स्तर को बेहतर तरीके से नियंत्रित कर सकते है।

अतः क्रिएटिन (creatine) रक्त शर्करा नियंत्रण और मधुमेह के उपचार में सहायक सिद्ध हुई है।


क्रिएटिन लाभ मस्तिष्क में – Creatine Benefits Improve Brain Function In Hindi
मस्तिष्क को स्वास्थ्य रखने और अधिक कार्य करने में क्रिएटिन (creatine) एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

शोध से पता चला है कि मुश्किल कार्यों को करते समय मस्तिष्क को अधिक ATP ऊर्जा की आवश्यकता होती है। क्रिएटिन सप्लीमेंट मस्तिष्क में फ़ॉस्फोक्रिएटिन (phosphocreatine) के स्तर बढ़ा सकती हैं, और मस्तिष्क के लिए अधिक ATP उत्पादन में मदद कर सकती हैं। क्रिएटिन (creatine), डोपामाइन (मस्तिक रसायन) के स्तर और माइटोकॉन्ड्रिया की कार्य क्षमता को बढ़ाकर यह मस्तिष्क के कार्यों में सहायता कर सकता है।

थकावट दूर करने में क्रिएटिन की खुराक – Creatine Powder Use Reduce Tiredness In Hindi

क्रिएटिन (creatine) की खुराक थकान या थकावट को भी कम कर सकती है। अध्ययन में पाया गया कि क्रिएटिन नींद की कमी के दौरान उत्पन्न थकान को कम कर, ऊर्जा के स्तर में वृद्धि करता है। क्रिएटिन, साइक्लिंग के दौरान एथलीटों में व्यायाम के कारण उत्पन्न थकावट को भी कम कर सकता है

क्रिएटिन सुरक्षित और उपयोग करने में आसान – Creatine Safe And Easy To Use In Hindi
विविध लाभों के साथ, क्रिएटिन (creatine) सबसे सस्ता और सुरक्षित सप्लीमेंट है, जिसे आप आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।
कई अध्ययन और लंबे समय से किए गए शोध के द्वारा यह सिद्ध होता है कि यह सप्लीमेंट मानव स्वास्थ्य और शरीर के लिए बहुत सुरक्षित है। तथा इसका सेवन प्रतिदिन 3-5 ग्राम क्रिएटिन मोनोहाइड्रेट पाउडर के रूप में करना बेहतर होता है। इसे पानी की अधिक मात्रा के साथ ग्रहण किया जाना चाहिए।
क्रिएटिन के नुकसान – Creatine Side Effects In Hindi

क्रिएटिन के सेवन से कभी कभी शारीरिक स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है अतः क्रिएटिन के दुष्प्रभाव में निम्न तथ्य शामिल हैं:-
गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान क्रिएटिन (creatine) के उपयोग से बचें।
बच्चे के लिए उचित रूप से 2-6 ग्राम क्रिएटिन प्रतिदिन लेना सुरक्षित है लेकिन इससे अधिक मात्रा स्वस्थ पर बुरा प्रभाव भी डाल सकती है।
यदि गुर्दे की बीमारी है तो क्रिएटिन (creatine) का प्रयोग न करें। क्रिएटिन गुर्दे की बीमारी को और खराब कर सकती है।
क्रिएटिन की उच्च खुराक पेट दर्द, जी मिचलाना, दस्त और मांसपेशी में ऐंठन आदि समस्याएं भी पैदा कर सकती हैं।
यदि आप क्रिएटिन (creatine) ले रहे हैं, तो गर्मी में व्यायाम न करें। क्योंकि इससे निर्जलीकृत की समस्या पैदा होती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.