Header Ads

वेट लोस के लिए कैसे चढे सीढियाँ


वेट लोस के लिए कैसे चढे सीढियाँ



सीढि़यां चढ़ने से आपका हार्ट और फेफड़ें, दोनों स्‍वस्‍थ और सुरक्षित रहते है। इससे ज्‍यादा से ज्‍यादा ऑक्‍सीजन की मात्रा शरीर में पहुचने से दिल की धड़कन सही रहती है। ऑक्‍सीजन सही मात्रा में पहुंचने से बॉडी में ब्‍लड़ सर्कुलेशन अच्छा होता है और आपको अच्‍छा महसूस करोगे। अगर आप स्वास्थ्य लाभ के लिए सीढ़ियाँ चढ़ने की योजना बना रहे है तो यह कदम उठाए।

अपनी फिटनेस के स्तर की जाँचने के लिए शुरूआत में केवल दो बार सीढ़ियाँ चढ़े, अगर आप इस अभ्यास से निश्चित हो जाएं तभी इसे करते रहे। 
शुरूआत धीरे-धीरे करे और एक-एक स्टेप आगे बढ़ाते जांए। जल्दी खत्म करने के चक्कर में दो सीढ़ियाँ एक साथ न चढ़े। 
सीढ़ियाँ चढ़ते समय साँस लेते रहे, दो सीढ़ियाँ (स्टेप) चढ़ने पर एक बार साँस ले। 
सीढ़ियाँ चढ़ते समय अपने पाँवो का ख्याल रखे। 
सीढ़ियाँ चढ़ते समय आप कोई सहारा ले सकते है। अगर सीढ़ियाँ चढ़ते समय आपको बेचेनी व साँस लेने में परेशानी महसूस हो तो आप तुरन्त रूक जाएं एवं किसी की सहायता ले 
अगर आप 70 वर्ष से अधिक उम्र के है और आपको घुटनो तथा कुल्हो में दर्द की समस्या हैं एवं थोड़ी सी सीढ़ियाँ चढ़ने से ही आपको थकान महसूस हो तो सीढ़ियाँ न चढ़े यह अधिक उम्र के व्यक्तियों के लिए ठीक नही है। 
अगर आप गर्भवती है तो बिना डॉक्टर की सलाह के ये नहीं करे। 
अगर आप हृदय रोगी है एवं हृदय की सर्जरी करवाई हो। 
अगर आपको स्वास्थ्य संबंधित कोई समस्या है 
अगर आपको श्वास संबंधित समस्या हो। 
अगर डॉक्टर ने आपको ऐसा करने से मना किया हो। 
अगर आपके घुटनों की सर्जरी हुई है तथा घुटनों का प्रत्यारोपण किया है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.