Header Ads

हर वक्त लगती है थकान रोजाना करें ये 5 काम


हर वक्त लगती है थकान रोजाना करें ये 5 काम
कभी-कभी यह किसी बीमारी की शुरूआत का भी लक्षण हो सकता है।





हम सब ऐसी जीवन शैली में रहने लगे हैं कि हर वक्त थकान का अनुभव होता है। यह थकान जो लगी रहती है इसके कारण के बारे में हम सब कभी नहीं सोचते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा है तो आपको अपनी जीवन शैली पर ध्यान देने की जरूरत है।

ऐसा नहीं है कि कोई रामबाण इलाज हो जो इस समस्या को दूर कर दे। क्योंकि इसके कई कारण होते हैं तो एक इलाज कैसे हो सकता है। कभी-कभी यह किसी बीमारी की शुरूआत का भी लक्षण हो सकता है। मुख्यरूप से तो यह खराब जीवन शैली का ही परिणाम होता है, जैसे नींद का पूरा न होना, खराब भोजन इत्यादि।

आइए जानते हैं 5 सरल उपाय जो आपको इस समस्या से छुटकारा दिला सकते हैं।

भरपूर पानी का सेवन 

शरीर में ज्यादातर ऐसा तब होता है जब पानी की कमी होती है। हम अक्सर अपने काम के ध्यान में पानी पीना भूल जाते हैं और शरीर थकान का अनुभव करने लगता है। इसलिए रोजाना पानी की मात्रा पर ध्यान दें और नियमित अंतराल में पानी पीते रहें।

सोने पर करे नियंत्रण 

कम सोना सेहत के लिए बहुत हानिकारक होता है। यह आपको पता ही नहीं चलने देता कि आप कब किसी रोग के शिकार हो गये। डेली लाइफ को संयमित करते हुए सोने और जगने के टाइम को फिक्स करें। सोने का समय जल्दी और जगने का समय भी जल्दी रखें। जैसे रात में 9 के बाद सोने का समय नियत करें तो सुबह सूर्योदय से पहले उठ जाएं। अगर यह काम आप सही से संचालित कर पाते हैं तो आपको पूरे दिन ऊर्जा का एहसास रहेगा।

रोजाना करें व्यायाम 
जल्दी उठने के बाद सुबह का टाइम वर्कआउट और एक्सरसाइज के लिए फिक्स करें। आपके जीवन से महत्वपूर्ण कोई काम नहीं है इसलिए रोजाना व्यायाम का काम किसी अन्य काम की वजह से न टालें। एक्सरसाइज के तौर पर टहलना, दोड़ना और अन्य वर्कआउट को शामिल कर सकते हैं।

स्नान में दें ध्यान 

दुनिया में एक एक्सरसाइज सबसे बेहतर मानी जाती है वह है तैरना लेकिन आप रोजाना तैर नहीं सकते हैं तो कम से कम आधे घंटे से 1 घंटे तक स्नान में समय दें। ठंड के मौसम को छोड़कर कोशिश करें कि ठंडे पानी से नहाया जाय। यह ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर करने के साथ पूरे तंत्रिका तंत्र को मजबूत करता है।

खाने में पोषक तत्वों को करें शामिल 

डायट में पोषक तत्वों की कमी की वजह से भी शरीर में थकान का अनुभव हो सकता है। यदि आपको रोजाना ऐसा लगता है तो आपको अपने खान-पान में शामिल पोषक तत्वों पर ध्यान देना चाहिए। आयरन, प्रोटिन और फाइबर युक्त भोजन का सेवन करें। अगर फिर भी परेशानी रहती है तो जांच अवश्य करायें।

फलों के जूस का करे सेवन 
रोजाना खान-पान से पर्याप्त पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं इसके लिए फलों के जूस का सेवन फायदेमंद होता है। शरीर को तुरंत एनर्जी देने का काम फलों के जूस करते हैं। नीबू, संतरा, अनार जैसे फलों का जूस सेहत के लिये फायदेमंद होता है।

चॉकलेट खाएं 

अगर कामक करते समय अचानक कमजोरी का अनुभव हो रहा है तो तुरंत एनर्जी के लिए चॉकलेट का सेवन लाभदायक होता है। चॉकलेट के सेवन से स्ट्रेस भी कम होता है और यह आपको मानसिक शांति भी प्रदान करता है। रोजाना 50 ग्राम तक चॉकलेट का सेवन कर सकते हैं।


शरीर में खून की कमी है, तो रोज खाएं ये फूड्स



हीमोग्‍लोबिन यानी रक्‍त में लाल रक्‍त कणिकाओं की कमी हो जाना एनीमिया होता है। इससे आप पूरी शक्ति के साथ काम नहीं कर पाते। शरीर थका-थका महसूस करता है। एनिमिया विश्व भर में एक नॉर्मल समस्या है, जिससे दुनिया भर में 40 करोड़ से भी अधिक महिलाएं ग्रस्त हैं। थकान, ताकत का अभाव, हल्का सिरदर्द, रुक-रुक कर सांस लेना इसके लक्षण हैं। स्किन, आंख, हथेली, मसूड़े और नाखून पीले पड़ जाते हैं, जब कोई एनिमिक होता है। सामान्य खून की जांच बता देती है कि किसी को एनीमिया है या नहीं। एनिमिया से बचा जा सकता है, जब आप अपने डायट में कुछ खास चीजों को शामिल करेंगे।



केवल आयरन एवं फॉलिक एसिड के सप्लीमेंट का सेवन एनीमिया को रोकने या उसे दूर करने के लिहाज से अपर्याप्त है। एनीमिया से बचने तथा इसे दूर करने के लिए रक्त निर्माण करने वाले (हीमोपोएटिक) पोषक तत्वों का सेवन उतना ही महत्वपूर्ण है। आयरन के अलावा ऐसे अन्य पोषक तत्व भी हैं जो एनिमिया से या तो बचा सकते हैं या उसे कम कर सकते हैं। इन पोषक तत्वों में विटामिन बी 6, विटामिन बी 2, विटामिन बी 12, विटामिन सी, फ्लोएट और प्रोटीन शामिल हैं। ये पोषक तत्व रक्त निर्माण (हीमोपोएसिस) की प्रक्रिया में सक्रिय भूमिका निभाते हैं। इन तत्वों को हीमोपोएटिक पोषक तत्व का नाम दिया गया है।




ज्यादातर महिलाएं यह नहीं जानती कि भोजन के साथ चाय, काफी या कोला का सेवन करने से आयरन पचाने की शरीर की क्षमता घट जाती है और इससे शरीर में आयरन की कमी हो जाती है। ऐसे में खाना खाते समय इन चीजों को खाने-पीने से बचें। भारत में आमतौर पर खाए जाने वाले भोजन में मुख्य तौर पर अनाज होते हैं, जिसमें फायटेट नामक पदार्थ होते हैं और ये आयरन पचाने की शरीर की क्षमता घटाते हैं। जितना हो सके अनाज को डायट में शामिल करें।



भोजन के साथ विटामिन सी युक्त फलों एवं सलाद का सेवन करना लाभदायक होता है, क्योंकि ये आयरन पचाने की शरीर की क्षमता को बढ़ाते हैं। सभी आवश्यक हीमोपोएटिक पोषक तत्वों से भरपूर पोषक सप्लीमेंट्स की समुचित खुराक को नियमित रूप से लेने से इन पोषक तत्वों की रोजाना की कमी का सामना करने में मदद मिलती है।



एनीमिया होने पर अनार, अंडा, बादाम, पालक, टमाटर, चुकंदर, अंजीर, मछली आदि नियमित रूप से खाएं। चुकंदर में आयरन भरपूर मात्रा में होता है। इसे खाने से शरीर में खून की कमी नहीं होती। अंजीर में विटामिन बी12, कैल्शियम, आयरन, फॉस्‍फोरस, पोटैशियम जैसे जरूरी तत्‍व पाए जाते हैं जो खून की कमी दूर करते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.