Header Ads

फलों के छिलके फेंके नहीं खाएं, इनमें छिपे है कमाल के फायदें

बचे हुए फल-सब्जियों के छिलकों को फेंके न‍हीं, सूजी हुई आंखों से लेकर दांतों को साफ करें

क्‍या फल या सब्‍जी काटने के बाद इनके बचे हुए छिलकों को आप बाहर फेंके देती है। अगर हां तो अगली बार इन्‍हें फेंकने से पहले एक बार दोबारा सोच लें। ऐसे कई तरीके हैं जिससे इनका सदुपयोग किया जा सकता है। इनके छिलकों को यूज करके आप कई कामों में यूज में ले सकते हैं।

थकी हुई आंखों को आराम

आलू के छिलकों में एंजाइम्‍स और विटामिन सी होता है और ये दोनों ही काले घेरों और थकी हुई आंखों को आराम देने के लिए जाने जाते हैं। आलू के कुछ छिलकों को 10 से 15 मिनट के लिए फ्रिज में रख दें। जब ये ठंडे हो जाएं तो इसके छिलकों को आंखों के ऊपर लगाएं। 15 से 20 मिनट के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें। आंखे ताजा महसूस करेंगीं।

दांतों की सफाई

अगर आपके दांत पीले हो गए हैं तो केले या संतरे के छिलके से इन्‍हें रगड़ें। इन छिलकों में मैग्‍नीशियम, मैंगनीज़ और पोटाशियम होता है जो दांतों के एनेमल को रिचार्ज कर उन्‍हें सफेद और चमकदार बनाता है।

पैस्‍ट रैपलेंट


मक्‍खी-मच्‍छरों को दूर रखने के लिए संतरे और नीबू के छिलके बहुत असरकारी होते हैं। संतरे और नीबू की सिट्रस खुशबू नैचुर पैस्‍ट निवारक का काम करते हैं। इन दिलकों को खिड़की, दरवाजों और उन जगहों पर रख दें जहां मच्‍छर आते हों।

शॉवर मिस्‍ट
संतरे और अंगूर के छिलके सैंट या बॉडी मिस्‍ट की तरह काम करते हैं। इसमें थोड़े खीरे के छिलके डालकर इस्‍तेमाल कर सकते हैं। भले ही इनकी खुशबू अच्‍छी ना हो लेकिन इनमें ठंडक देने वाले यौगिक होते हैं त्‍वचा को शुष्‍की और खुजली से राहत दिलाते हैं। आप इसमें नीबू के छिलके भी मिला सकते हैं। इससे त्‍वचा की रंगत निखरती है।

त्‍वचा को स्‍क्रब और मॉइश्‍चराइज़ करें

त्‍वचा की सेहत के लिए फल और सब्जियों के छिलके बेहतरीन काम करते हैं। इनमें एंटीऑक्‍सीडेंट्स और अन्‍य पोषक तत्‍व होते हैं जो त्‍वचा के लिए बेहतर काम करते हैं। ये त्‍वचा का रंग साफ करने, एक्‍सफोलिएट और उसे क्‍लींज करने में मदद करते हैं। इससे आप फेस स्‍क्रब भी बना सकते हैं। संतरे के कुछ छिलके धूप में सुखा दें और इसके बाद इसे पाउडर के रूप में ग्राइंड कर लें। इसमें प्‍लेन योगर्ट मिलाएं और थोडा शहद भी। इस पैक को चेहरे और गर्दन पर लगाएं और 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें और स्‍क्रब करके चेहरा धो लें।

फलों और सब्जियों के बचे हुए छिलकों का कैसे इस्तेमाल करें 

फल और सब्जियों का सेवन करने के बाद लोग अक्सर इसके छिलकों को फेंक देते हैं। इन छिलकों को फेंकने की बजाय कई चीजों में इनका इस्तेमाल किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल काफी फायदेमंद होता है।



फलों और सब्जियों का सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है। जिसकी वजह से लोग रोजाना इनका सेवन करना पसंद करते हैं। आपकी यह आदत आपको स्वस्थ रखने में मदद करती है लेकिन लोग फलों और सब्जियों का सेवन करने के बाद इनके छिलकों को फेंक देते हैं। आपको अपनी इस आदत में बदलाव करने की जरुरत होती है। कूड़ें में फेंकने की बजाय आप इसका इस्तेमाल कई काम में ले सकते हैं। फलों और सब्जियों के छिलकों में कई पोषक तत्व और फ्लेवर होते हैं जो आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं। तो अब से इन छिलकों को फेंकने से पहले सोच लें, यह आपके काम आ सकते हैं। तो आइए आपको फलों और सब्जियों के छिलकों को कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं के बारे में बताते हैं। 

दांतों का पीलापन कम करना: केला और संतरे के छिलके को दांतों पर रब करने से दांतों का पीलापन दूर होता है। इन छिलकों में मैग्नीशियम, मैंगनीज और पोटेशियम होते हैं जो दांतों को सफेद बनाने में मदद करते हैं।

आंखों की थकान दूर करने में: आलू के छिलके में एंजाइम और विटामिन सी होते हैं जो आंखों की थकावट और सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसका इस्तेमाल करने के लिए आलू के छिलके को 10-15 मिनट तक फ्रिज में रखकर ठंडा कर लें। जब एक बार यह ठंडे हो जाएं तो इन छिलकों को आंखों के पास रखें। इन्हें 15-20 मिनट तक आंखों पर रखें रहने दें उसके बाद ठंडे पानी से आंखों को धो लें। 

त्वचा को स्क्रब और मॉइश्चराइज करने के लिए: फल और सब्जियों के छिलके त्वचा के लिए फायदेमंद होते हैं। छिलकों में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और अन्य पोषक तत्व होते हैं जो त्वचा को क्लिन करने और रंगत सुधारने में मदद करते हैं। नींबू, सेब, पपीता, अनार और केले के छिलके से घर पर स्क्रब और फेसियल मास्क बना सकते हैं। यह बहुत प्रभावी होते हैं।

धातु साफ करने में: नींबू और ग्रेपफ्रूट के छिलकों में सिट्रस होता है जिसकी मदद से कॉपर और ब्रास को साफ किया जा सकता है। छिलकों में मौजूद सिट्रिक एसिड कॉपर, ब्रास और अन्य धातुओं की बनी चीजों की चमक वापिस लाने में मदद करते हैं।

जेली बनाना: सेब, अमरुद और पीच जैसे कुछ फलों के छिलकों की मदद से स्वादिष्ट जेली बनाई जा सकती है। घर पर बनी इस जेली का सेवन ब्रेड और बिस्कुट किसी के साथ भी कर सकते हैं।

बेकार छिलकों से बनाएं, कुछ काम का नया अजूबा


नई दिल्ली। अक्सर फल खाने के बाद हम इनके छिलकों को फेंक दिया जाता है लेकिन इन्हें फेंकने की बजाए घर को सजाने और लजीज व्यंजन बनाने के लिए भी आप इस्तेमाल कर सकते हैं। सिर्फ फल ही नहीं, अंडों और खजूर की गिट्टकों से भी खाने-पीने और सजाने की चीजें बनाई जा सकती हैं। आइए जानिए बेकार छिलकों का कैसे इस्तेमाल किया जाए।
बेकार छिलकों का कैसे करें इस्तेमाल

संतरे के छिलके

संतरे के छिलके से आप मोमबत्ती बना सकते हैं। इसके लिए संतरे को बीच में से काट लें और इस तरह से निकालें कि उसका छिलका खराब न हो। छिलके को एक कटोरी के रूप में अलग कर लें और इसके बीच में डोरी वाला धागा रख कर उसमें तेल डाल दें। अब इसे जला कर घर के किसी भी कोने में रख सकते हैं। यह मोमबत्ती का भी काम करेगा और इससे घर भी सुंगधित हो जाएगा।


आलू के छिलके

इन छिलकों को किसी पैन में रखें और उस पर थोड़ा-सा तेल, नमक और काली मिर्च डालकर अच्छे से मिक्स करें। अब इस पैन को 350 डिग्री तापमान पर आधे घंटे के लिए माइक्रोवेव में रखें। यह एक क्रिस्पी स्नैक्स बन जाएंगे जिन्हें शाम की चाय के साथ सर्व करें।

सेब के छिलके


सेब को खाने के बाद इसके छिलके और बीच वाले हिस्सों को फेंक दिया जाता है लेकिन इन्हें फेंकने की बजाए एक पैन में थोड़े-से पानी के साथ तब तक उबालें जब तक पानी का रंग लाल न हो जाए। अब इन छिलकों को बाहर निकाल लें और बचे हुए पानी में 1 कप चीनी मिलाकर एक उबाल आने दें। इसके बाद इसे किसी जार में डालकर रख लें और ठंडा होने पर जैम की तरह इस्तेमाल करें।

खजूर की गुठली

खजूर की गुठलियों को पैन में डालकर गहरा भूरा होने तक भूनें और मिक्सी में पीस कर इसका पाउडर बना लें। इस पाउडर को कॉफी की तरह इस्तेमाल करें।
अंडे के छिलके

अंडे के छिलकों को दो हिस्सों में तोड़ लें और एक-एक हिस्सा बेकिंग ट्रे में रखें। अब सभी अंडे के छिलकों में थोड़ा-थोड़ा तेल लगा दें। सभी छिलकों में केक का बैटर डालें और ऊपर से दूसरे छिलके से इसे बंद कर दें। इस ट्रे को 350 डिग्री पर 35 मिनट के लिए माइ्क्रोवेव में रखें। निकालने के बाद छिलकों में से अंडे के आकार के हीनिकालें जो देखने और खाने दोनों में ही बहुत बढ़िया लगेंगे।

होला, संतरा के साथ ही उन फलों के छिलके भी उतार देते हैं, जो गूदे के साथ लगे होते हैं जैसे सेब, अमरूद, नाशपाती, चीकू आदि, जबकि फलों के छिलके एंटी-ऑक्सीडेंट्स और फाइबर से भरपूर होते हैं। इनके रंग-बिरंगे छिलकों में फ्लेवोनॉएड होता है, जो एलर्जी प्रतिरोधक होने के साथ-साथ सूजन व दर्द भी कम करता है। अध्ययन बताते हैं कि फ्लेवोनॉएड से हृदय रोगों की आशंका भी कम होती है।
आलू के छिलकों में आलू के गूदे की तुलना में फाइबर, आयरन, पोटैशियम और विटामिन अधिक होते हैं। आलू के 20 प्रतिशत पोषक तत्व उसके छिलकों में होते हैं। इसके लिए कोशिश करें कि आलू को अच्‍छी तरह धोकर उन्‍हें छिलके सहित ही बनाएं।
सेब का दो-तिहाई फाइबर उसके छिलके में होता है। सेहत के लिए लाभदायक क्वेरसेटिन नामक एंटी-ऑक्सीडेंट भी सेब के छिलके में अधिक होता है। अमरूद के छिलके विटामिन सी और एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं। इन फलों को छीलने की बजाए छिलके सहित खाएं।

ब्रोकली व फूलगोभी के डंठल पोषकता से भरपूर होते हैं। प्याज के छिलकों में एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं। इनमें क्वेरसेटिन होता है, जो रक्त दाब, सूजन व कोलेस्ट्रॉल कम करता है। इन्हें धोकर सूप आदि में मिलाएं और खाने से पहले निकाल लें।

नींबू, मौसमी या संतरे के छिलके के ऊपरी रंगीन भाग को कद्दूकस करके सूप या ग्रेवी में डाल लें और धीमी आंच पर पकाएं। इससे फ्लेवर भी आएगा और एसिडिटी भी नहीं बढ़ेगी। संतरे के छिलके प्रोटीन, रायबोफ्लैविन, विटामिन ए और विटामिन बी-6 के अच्छे स्रोत होते हैं।
कद्दू के बीज मैग्नीशियम, पोटैशियम, आयरन और फाइबर से भरपूर होते हैं। इन्हें थोड़े से तेल में भून कर खाएं। कद्दू की सब्जी भी छिलके सहित बनाएं। इसमें फाइबर और विटामिन अधिक होता है।

फलों के छिलके फेंके नहीं खाएं, इनमें छिपे है कमाल के फायदें


दिलेर समाचार,हम में से कई लोग हेल्‍दी और फिट रहने के लिए फल खाना पसंद करते हैं? हम यह भी जानते हैं कि फल स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होते हैं। फल तो आप सब खाते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि कुछ फलों के छिलकों भी स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं? सामान्यत: हम फलों के छिलके फेंक देते हैं और हम में बहुत से लोग यह नहीं महसूस करते कि फलों के छिलके भी स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हो सकते हैं।
इसके अलावा फलों के गूदे की तरह फलों के छिलके टेस्टी (स्वादिष्ट) नहीं होते है, यही एक कारण जिस वजह से हम फलो के छिलके नहीं खाते हैं और फेंक देते है। जैसा कि हम जानते हैं कि फलों में विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं जो शरीर के लिए बहुत लाभदायक होते हैं।

आज हम फलों के साथ ही इनके छिलकों से स्वास्थ्य को होने वाले लाभों के बारे में जानेंगे ताकि हम इनका भी सेवन कर सकें, आइए देखें!



केले का छिलका

केले के छिलके को दांतों पर रगड़ने से दांत सफ़ेद हो जाते हैं। इसके अलावा ये झुलसी हुई त्वचा को आराम पहुंचाते हैं तथा थोड़ी मात्रा में खान एपर ये एसिडिटी से भी आराम दिलाते हैं।

संतरे का छिलका

संतरे के छिलके में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंटस प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। ये शरीर से फैट को तीव्रता से दूर करते हैं तथा कब्ज़ और श्वसन संबंधी समस्याओं से भी आराम दिलाते हैं।

अनार के छिलके

अनार के छिलके में न्यूट्रियंट्स (पोषक तत्व) और विटामिन्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। ये स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों को रोकते हैं, गले की खराश से आराम दिलाते हैं और आपकी हड्डियों को मज़बूत बनाते हैं

तरबूजे के छिलके

तरबूजे के छिलके का सफ़ेद भाग वज़न कम करने में सहायक होता है तथा यह आपकी त्वचा और बालों को स्वस्थ और अंदर से चमकीला बनाता है क्योंकि यह कोशिकाओं को पोषण प्रदान करता है।

आम का छिलका

आम के छिलके खाने से आपका डाइजेशन पावर अच्‍छा होता है और कब्‍ज की शिकायत कम होती है। आम के छिलकों में अच्‍छा फाइबर होता हे, जो कि हेल्‍थ और पाचन क्रिया के लिए अच्‍छा होता है।

नीबू का छिलका
नीबू के छिलके में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है तथा इसमें एंटीसेप्टिक गुण भी पाए जाते हैं। यह मुंह के संक्रमणों और पेट के कुछ संक्रमणों के उपचार में सहायक होते हैं। नीबू के छिलके तनाव से भी राहत दिलाने में सहायक होते हैं

पपीते का छिलका

पपीते का छिलका आँतों में उपस्थित व्यर्थ और ज़हरीले पदार्थों को बाहर निकालकर उन्हें साफ़ करता है तथा आपको स्वस्थ रखता है।

सेब का छिलका

सेब के छिलके कब्ज़ से आराम दिलाते है क्योंकि इनमें फाइबर पाया जाता है। सेब के छिलके आपके प्रतिरक्षा तंत्र को मज़बूत बनाते हैं और कुछ विशेष प्रकार के कैंसर की रोकथाम करते हैं।

पीरियड्स के दौरान ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होना एक हद तक सामान्य है लेकिन अगर हर बार ऐसा होता है तो यह किसी गंभीर समस्या का संकेत हो सकता है। पीरियड्स के दौरान ज्यादा ब्लीडिंग होने की समस्या को मेनोर्रहाजिया कहा जाता है। महिलाओं को ज्‍यादा ब्‍लीडिंग होने का पता आसानी से चल जाता है। अगर आपको दिन में कई बार पैड या टैम्पोन बदलने की जरूरत महसूस हो रही है तो जरूर कुछ गड़बड़ है। इसके साथ ज्यादा ब्लीडिंग होने से महिलाओं को एनीमिया और शरीर में हार्मोनल इम्बैलेंस की शिकायत होने लगती है। आयुर्वेदिक में इसे मेनोर्रहाजिया कहते हैं जिसे रक्तप्राधारा या असृग्धारा के नाम से जाना जाता है। असृग का मतबल है रक्त और धारा का मतलब है अत्यधिक बहाव।


फलों के छिलके के फायदे


खुद को सेहतमंद रखने के लिए तथा कई बीमारियों से दूर रखने के लिए फलों का नियमित सेवन बहुत ही जरूरी है। फलों में सभी प्रकार के पौष्टिक तत्वू होते हैं, जिनकी जरूरत हमें होती है। जिस तरह फल हमारे लिए फायदेमंद हैं उसी तरह फलों के छिलके भी पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इसलिए इसे फेंके नहीं बल्कि इनका सेवन आपके स्वास्थ्य को सही कर सकता है। आइए जानते हैं फलों के छिलके के फायदे।
फलों के छिलके के फायदे


अनार के छिलके के फायदे

अनार के अत्यंत फायदेमंद गुणों के बारे में जानकर भी बहुत से ऐसे लोग होंगे जिन्हें इसके छिलकों के फायदों के बारे में शायद ही पता होगा। झुर्रियों की रोकथाम और त्वचा को जवाँ बनाये रखने के लिये अनार के छिलके बहुत ही फायदेमंद है। अनार के छिलकों में पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में कॉलेस्ट्रोल की सही मात्रा बनाये रखने में मदद करते हैं। साथ ही एंटीबैक्टीरियल एंड एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होने की वजह से अनार का छिलका शरीर की हड्डियों को स्वस्थ्य रखता है।
सेब के छिलके के फायदे

सेब का छिलका फाइबर का एक महत्वपूर्ण स्रोत है। यह वजन को कम करने में सहायक है। इसे खाने से शरीर की चर्बी कम होने लगती है। साथ ही यह कब्ज में आराम दिलाने में मदद करता है। इसमें मिनरल्स की मात्रा ज्यादा होती है। यह दांतों को सड़ने से बचाता है और कैविटी नहीं होने देता। अगर आपको मधुमेह की समस्यान है तो आप सेब का छिलका खाना शुरू कर दें। यह बढ़े हुए ब्लमड शुगर के स्तर को नियंत्रित करता है। हड्डियों की मजबूती के लिये कैल्शि यम बहुत आवश्य क है। सेब के छिलके में कैल्शिलयम होता है, जो कि हड्डियों के स्वा स्य् न के लिये अच्छाे होता है।
पपीता के छिलके के फायदे

पपीता हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभकारी है। इसके रोजाना सेवन से शरीर की कई गंभीर बीमारियों को दूर किया जा सकता है। त्व चा पर पपीता का छिलका लगाने से शुष्कता दूर होती है और त्व चा में निखार आता है। पपीते का छिलका आंतों में उपस्थित व्यर्थ और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर उन्हें साफ करता है तथा आपको सेहतमंद रखता है।
संतरे के छिलके के फायदे
कई पोषक तत्वों से भरपूर संतरे के छिलके में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंटस प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। यह मुंह की बदबू को दूर करने और दांतों को स्वस्थ रखने में भी बहुत मददगार होता है। इसके अलावा संतरे के छिलके शरीर से फैट को तीव्रता से दूर करते हैं तथा कब्ज और श्वसन संबंधी समस्याओं से भी आराम दिलाते हैं। इसका इस्तेमाल आप चूर्ण बनाकर भी कर सकते हैं।
नींबू के छिलके के फायदे
संतरे के छिलके की तरह नींबू के छिलके भी बहुत फायदेमंद है। नींबू के छिलके में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है तथा इसमें एंटीसेप्टिक गुण भी पाए जाते हैं। यह मुंह के संक्रमणों के अलावा पेट के कुछ संक्रमणों को दूर करने में सहायक है।
केले के छिलके के फायदे

यदि आप चेहरे के मुहांसों से बहुत परेशान रहती हैं, ऐसी समस्या आ जाने पर आप अपने चेहरे पर केले के छिलके को रगड़ें आपके मुहांसें गायब हो जाएंगे। इसके अलावा जब कभी आपको कोई कीड़ा काटे लें तो आप घबराए नहीं और तुरंत उस पर केले का छिलका लेकर अपने हल्के हाथों से मलें जिससे आपको दर्द से राहत मिलेगी। आप अपनी दांतों की खोई हुई चमक आप वापस ला सकते हैं।
तरबूज के छिलके के फायदे

तरबूज खाना गर्मियों में बहुत ही फायदेमंद होता है। यह शरीर में पानी की कमी को पूरा करता है। जिस तरह तरबूर फायदेमंद है उसी तरह इसके छिलके भी फायदेमंद है। तरबूजे के छिलके का सफेद भाग वजन कम करने में सहायक होता है तथा यह आपकी त्वचा और बालों को स्वस्थ और अंदर से चमकीला बनाता है। इसके अलावा आप खीरे के छिलके को भी खा सकते हैं। यह हड्डियों की मजबूती के लिए भी ये बहुत ही फायदेमंद है।

कोई टिप्पणी नहीं

Healths Is Wealth. Blogger द्वारा संचालित.